Tuesday, November 18, 2014

शाम का घिरना

शाम का घिरना
बारिश का आना
ठंडी बहकी हवाओं में
दिल का सिहर जाना
कुछ ऐसा हैं मौसम 

No comments: